Monday, November 28, 2022
spot_img
More

    छत्तीसगढ़ का ‘दिलवाला’ अस्पताल, जहाँ Free में होता है दिल की सभी बीमारियों का इलाज

    दिल के शेप में बनी इस इमारत का दिल भी बहुत बड़ा है। गरीब मां-बाप, जो अपने बच्चों के दिल के छेद के ईलाज के लिए लाखों रुपये नहीं जुटा पाते उनका मसीहा है ये अस्पताल।

    छत्तीसगढ़ ने देश ही नहीं विदेशों में भी अपनी अलग पहचान बनाई है। चाहे पीडीएस प्रणाली हो, खनिज संपदा हो या बिजली, लेकिन छत्तीसगढ़ के एक अस्पताल (Sri Sathya Sai Sanjeevani Hospital Raipur) कुछ खास कारण के लिए प्रसिद्ध है। जी हां, चाइल्ड हार्ट केयर की राजधानी होने के कारण देश-विदेश में इस अस्पताल का झंडा फहराता है और यह मरीजों के लिए नि:शुल्क है।

    अस्पताल में कैश काउंटर तक नहीं

    इस अस्पताल का नाम श्री सत्य साईं संजीवनी हॉस्पिटल है जो छत्तीसगढ़ के नया रायपुर में है। यहां पर दिल के मरीज बच्चों का मुफ्त में ईलाज किया जाता है। दिलचस्प बात ये है कि इस अस्पताल में कैश काउंटर तक नहीं है। इस अस्पताल में देश भर से मरीजों के अलावा कई देशों के मरीज भी मुफ्त इलाज कराने पहुंचते हैं जिसमें पाकिस्तान का नाम भी शुमार है।  

    30 एकड़ में बने इस अस्पताल की नींव 2012 में रखी गई थी। यहां नवजात बच्चों से लेकर 18 साल तक के बच्चों का फ्री में इलाज किया जाता है।  मरीज के साथ उसके एक अटेंडेंट को भी यहां रहने-खाने की मुफ्त इंतजाम हैं। यहां पर रोजाना तीन ऑपरेशन किए जाते हैं। अपने इस काम के लिए अस्पताल को  2016 में बेस्ट सिंगल स्पेशयिलिटी अवार्ड से बी नवाजा जा चुका है।

    यह सम्मान एसोचैम एसोसिएटेड चैंबर्स आफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री की ओर से भारत में हेल्थ सर्विस में खास काम करने के लिए दिया जाता है। यहां पहले आओ पहले पाओ की नीति के तहत रोजाना सुबह 9 से दोपहर 3 बजे तक छह मरीजों का रजिस्ट्रेशन किया जाता है। हालांकि इमरजेंसी होने पर तुंरत भर्ती करने की सुविधा है। 

    भारत ही नहीं पाकिस्तान से भी आते है इलाज करवाने

    नया रायपुर स्थित श्री सत्यसाईं संजीवनी अस्पताल (Sri Sathya Sai Sanjeevani Hospital Raipur) में होने वाले कैशलेस उपचार पर मरीजों को इतना भरोसा है कि यहां छोटे बच्चों के दिल की बीमारी के ऑपरेशन की वेटिंग 29 हजार से अधिक पहुंच चुकी है। वेटिंग लिस्ट को कम करने के लिए अस्पताल में मौजूद संसाधनों से होने वाली नियमित सर्जरी को चार के बजाए आठ कर दिया गया है। इसके बाद भी लंबी प्रतीक्षा सूची में शामिल बच्चों के ऑपरेशन को पूरा करने में दस साल का वक्त् लग सकता है। इस अस्पताल की लोकप्रियता देश के साथ विदेशों में पहुंच चुकी है और दूरदराज से आकर मरीज यहां अपना उपचार करा रहे हैं। सत्यसाईं संजीवनी हास्पिटल में देश ही नहीं, श्रीलंका, अफगानिस्तान, नेपाल, पाकिस्तान, बांगलादेश, नाइजीरिया तथा फिजी समेत दस देशों से मरीज आ रहे हैं। इस अस्पताल में अब तक सर्वाधिक ऑपरेशन पाकिस्तान के 13 बच्चों का हुआ है।

    दो माह पूर्व अस्पताल के डॉक्टर नाइजीरिया गए थे। जहां दिल की बीमारी के जांच के साथ 23 मरीजों का आपरेशन भी किया गया। वहीं फिजी में दो साल के भीतर दो दौर में 50 से ज्यादा आपरेशन किए गए हैं। नया रायपुर स्थित श्री सत्यसाईं हास्पिटल में उपचार के साधनों को ध्यान में रखते हुए रोजाना 30 मरीजों की जांच प्रक्रिया पूरी की जाती है और नियमित रूप से 8 आपरेशन किए जाते हैं। गंभीर स्थिति में आने वाले मरीजों को तत्काल जांच और सर्जरी की सुविधा दी जाती है। यह अस्पताल देश में पहला ऐसा अस्पताल है, जहां बच्चों के दिल की बीमारी का उपचार किया जाता है। यहां आने मरीजों की संख्या काफी अधिक है, इसकी वजह से दिल की बीमारी का उपचार कराने वालों की प्रतीक्षा सूची घट नहीं पा रही है। इस अस्पताल की एक खासियत यह भी है कि यहां कैश काउंटर ही नहीं बनाया गया है।

    0-18 वर्ष तक के बच्चों का उपचार किया जाता है

    (Sri Sathya Sai Sanjeevani Hospital Raipur) अस्पताल में हृदय से संबंधित 25 तरह की बीमारी की जांच और उपचार की सुविधा यहां मौजूद है, जिसकी आस में दूर देशों से मरीज यहां पहुंचते हैं। इस हास्पिटल में अब तक 15 हजार से ज्यादा दिल के आपरेशन हो चुके हैं और हर माह दो सौ ज्यादा आपरेशन हो रहे है। अस्पताल में वर्ष 2014 से 0-18 वर्ष तक के बच्चों का उपचार किया जा रहा है। श्री सत्यसाईं हास्पिटल में छत्तीसगढ़ के मरीज बच्चों के इलाज की सुविधा के लिए चिरायु योजना लागू किया गया हे। अस्पताल में अब तक सोलह सौ से ज्यादा मरीजों का आपरेशन किया जा चुका है। सात डॉक्टर दे रहे सेवा अस्पताल में अभी दे पीडियाट्रिक सर्जन डॉ. आशीष कटेवा तथा डॉ. रागिनीं पांडे, कर्डियोलाजिस्ट डॉ. अतुल प्रभु, डॉ. प्रशांत ठाकुर तथा डॉ. रवि और उनस्थिया विभाग में डॉ. बाल स्वरूप साहू और डॉ. शिवानी गजपाल प्रमुख रुप से अपनी सेवा दे रहे हें। इसके साथ ही अस्पताल में हर दिन जिन बच्चों का आपरेशन होता है, उनके लिए प्रार्थना की जाती है और उनकी लिस्ट देश विदेश में फैले सत्यसाईं के अनुयायियों को भेजी जाती है, जिससे वे भी प्रार्थना में शामिल हो सके।


    कुछ साल पहले कालाहांडी में एक बच्ची नाली में मिली थी, जिसे वहां के एनजीओ ने लाकर अस्पताल में दाखिल किया था। यहां सर्जरी के बाद बच्ची ठीक हुई। कुछ समय बाद बच्ची को एक इटैलियन दंपत्ति ने गोद ले लिया। ओडिशा में रहने व ली प्रतीक्षा के दिल में छोटा सा सुराक था यहां आपरेशन के दौरान जब रक्त् की जरूरत थी। असपताल प्रबंधक के एक अधिकारी ने उसे रक्त दिया। हरियाणा के सहसपुर से एक 89 दिन की बच्ची दक्षिता शर्मा का यहां आपरेशन हुआ। इस छोटी सी बच्ची की ओपन हार्ट सर्जरी हुई। निशुल्क सेवा संभव श्री सत्यसाईं संजीवनी अस्पताल द्वारा देश के साथ विदेशों से आने वाले बच्चों को उपचार की निशुल्क सेवा दी जाती है। अस्पताल का उद्देश्य लोगों की सेवा करना है। यहां विदेशों से भी आकर मरीज अपना उपचार कराते हैं। – अजय कुमार श्राफ, पीआरओ, श्री सत्यसाईं संजीवनी हास्पिटल

    घर का कोई सदस्य बीमार हो तो पैसे की तंगी के कारण बहुत से लोग चाहकर भी बड़े निजी अस्पताल में उसका इलाज नहीं करा पाते। ऐसे में सोचिए उन लोगों की बेबसी जो अपने नन्हे से बच्चे के दिल में छेद की बीमारी का इलाज पैसे की कमी के कारण नहीं करा पाते। रायपुर में एक ऐसा अस्पताल है, जहां सुविधाएं तो सब हैं लेकिन कैश काउंटर नहीं है।

    उत्तर प्रदेश के आजमगढ़ जिले के छोटे से गांव में रहने वाले अजय सिंह के घर तीन महीने पहले बेटी का जन्म हुआ लेकिन कुछ ही दिन में पता चला कि उनकी बेटी के दिल में छेद है। निजी स्कूल में शिक्षक अजय के पास इतना पैसा नहीं था कि बच्ची का महंगा इलाज करा पाते। ऐसे में उन्हें किसी ने नया रायपुर के श्री सत्य साईं संजीवनी अस्पताल (Sri Sathya Sai Sanjeevani Hospital Raipur) का पता दिया तो वह बिना देर किए अपनी लाडली को लेकर यहां चले आए।

    नवंबर 2012 से अब तक पिछले पांच वर्षों में देश-विदेश के 49423 मरीजों को ओपीडी में आए, जिनमें से 5254 मरीजों की सफल सर्जरी नि:शुल्क की गई।

    श्री सत्य साईं संजीवनी हॉस्पिटल रायपुर कहां है? (Sri Sathya Sai Sanjeevani Hospital Raipur address)

    6R66+8FR, Naya Raipur Marg, Sector 2, Nawagaon-1, Atal Nagar-Nava Raipur, Chhattisgarh 492101

    श्री सत्य साईं संजीवनी हॉस्पिटल रायपुर कांटेक्ट नंबर (Sri sathya sai hospital raipur contact number)

    077129 70325

    Also Read: HISTORY OF CHHATTISGARH: छत्तीसगढ़ का नाम “छत्तीसगढ़” क्यों पड़ा

    Latest Posts

    spot_imgspot_img

    Don't Miss

    Stay in touch

    To be updated with all the latest news, offers and special announcements.